Best Bewafa Shayari In Hindi- बेवफा शायरी हिंदी

0
81
views
bewafa shayari
bewafa shayari

Are you looking for Bewafa Shayari In Hindi? Then don’t worry about it. In this article you get all for it.

आज के इस पैसो के ज़माने में सच्चे प्यार और मोहब्बत के किस्से बहुत ही काम देखने को मिलते है। बस लोग यूही आते है और किसी के दिल से खेल के चले जाते है। और बेवफा कहलाते है। हो सकता है आपको भी किसी की बेवफाई का खामियाजा भुगतना पड़ा हो और आप Bewafa Shayari ढूंढ ते हुए यहां पहोचे हो।

यहां पे हम Bewafa Shayari का एक बहुत बड़ा और अच्छा संग्रह लेके आये है जो आपको बहुत सारि अच्छे से अच्छी बेवफा शायरी देगा। और फिर आप इन Hindi Bewafa Shayari को अपने स्टेटस में या तो आपके साथ जिसने बेवफाई की है उनको भेज सकते है।

हम तो आशा करते है को आपको इन bewafa shayari की इतनी जरूरत न पड़ें। क्युकी इन सभी चीजों से आपका ध्यान कही और अटका पड़ेगा और आपकी तरक्की रुक जाएगी। इन चीजों को छोड़ के आप आगे बढ़ें ऐसी हम आशा रखते है। और जीवन में आगे बढ़ने के लिए हमारी यह खास पेशकश को भी पढ़ें- Best Hindi Motivational Quotes On Life

Bewafa Shayari (In Hindi)

तो अब आंनद उठाये हमारी एक और पेशकश Bewafa Shayari In Hindi का। हम आशा करते है की यह कलेक्शन आपको पसंद आएगा और अगर आपको यह सही में पसंद आये तो हमें कमेंट में जरूर बताएगा। इसमें हमने Bewafa Shayari Images को भी शामिल किये है।

कतरा कतरा आग बन के
जला रही है यादे तेर
बरस के इश्क तू भी
दिल की लगी बुझा


हर किसी के नसीब में कहा लिखी होती हे चाहतें
कुछ लोग दुनिया में आते हे सिर्फ तन्हाइयों के लिए.


जरा परदे मेँ रहकर बाहोँ मेँ समाओ किसी गैर की,
कहीँ कोई देख ना ले तुम्हेँ,
मेरी खुशियोँ का कत्ल करते हुये…!!


इस दुनिया मेँ अजनबी रहना ही ठीक है,
लोग बहुत तकलीफ देते है अक्सर अपना बना कर !!


hindi bewafa shayari
hindi bewafa shayari

उसकी दर्द भरी आँखों ने जिस जगह कहा था
अलविद आज भी वही खड़ा है
दिल उसके आने के इंतज़ार में.


बेहद हदें पार की थी हमने कभी किसी के लिए

बेहद हदें पार की थी हमने कभी किसी के लिए,
आज उसी ने सिखा दिया हद में रहना….!!


इन्सान सब कुछ भूल सकता हैं
सिवाय उन पलों के जब उसे
अपनो की ज़रूरत थी और वे साथ नहीँ थे


अगर बेवफाओं की अलग ही दुनिया होती तो
मेरे वाली.. वहा की रानी होती..!!


Bewafa shayari
Bewafa shayari

हम नादां थे जो उन्हें हमसफ़र समझ बैठे,
वो चलते थे मेरे साथ पर किसी और की तलाश में!!


बना दो वज़ीर मुझे भी इश्क़ की दुनिया का दोस्तों,
वादा है मेरा हर बेवफा को सजा ऐ मौत दूंगा.


अब की बार एक अजीब सी ख्वाहिश जगी है,
कोई मुझे टूट कर चाहे और मै बेवफा निकलू.


रात को जब चाँद सितारे चमकते हैं,
हम हरदम फिर तेरी याद में तड़पते हैं,
आप तो चले गए हो छोड़कर हम को,
मगर हम मिलने को तरसते है।


New Bewafa shayari
New Bewafa shayari

तैरना तो आता था हमे मोहब्बत के समंदर मे लेकिन,
जब उसने हाथ ही नही पकड़ा तो डूब जाना अच्छा लगा.


दिल पे क्या गुज़री, वो अनजान क्या जाने,
प्यार किसे कहते है, वो नादान क्या जाने,
हवा के साथ उड़ गया, घर इस परिंदे का,
कैसे बना था घौंसला, वो तूफान क्या जाने!


बेवफा लोगो को

बेवफा लोगो को हम से बेहत्तर कोन जानेगा
हम तो वो दीवाने है जीने की किसी नफरत से भी प्यार था.


तरस गये तेरे लव से कुछ सुनने को हम
प्यार की बात ना सही कोई शिकायत कर दो


Bewafa shayari status
Bewafa shayari status

अब वो वक़्त ही नही रहा किसी से वफ़ा करने का
हद से ज्यादा चाहो तो लोग मतलबी समझते है.


अब इंतज़ार की आदत भी छोडनी होगी
उसने साफ़ कह दिया मुझे भूल जाओ तुम


खेलना अच्छा नही होता किसी के नाज़ुक दिल से
दर्द जान जाओगे जब कोई खेलेगा तुम्हारे दिल से


तू बेवफा है तेरी बेवफ़ाई में दिल बेकरार ही ना करूँ,
तू हुक्म दे तो तेरा इंतेज़ार ही ना करूँ, तू बेवफा है
तो कुछ इस कदर बेवफ़ाई कर,
के तेरे बाद मैं किसी और से प्यार ही ना करूँ.


सुना है देर रात तक जागते हो आप लोग,
यादो के मारे हो या मेरी तरह इश्क मे हारे हो


शिकायत है उन्हें कि, हमें मोहब्बत करना नही आता,
शिकवा तो इस दिल को भी है,
पर इसे शिकायत करना नहीं आता.


उस आशिक का दर्द भगवान भी नही समझ सकते,
जिसकी गर्लफ्रेन्ड रिचार्ज करवाने के
बाद भी उसे फोन नही करती.


Bewafa shayari images
Bewafa shayari images

खूबसूरती से धोका न खाइये जनाब,
तलवार कितनी भी खूबसूरत क्यों न हो,
मांगती तो खून ही है.


जब मिलो किसी से तो जरा दूर का रिश्ता रखना,
बहुत तङपाते हैँ अक्सर सीने से लगाने वाले


जब मिलो किसी से तो जरा दूर का रिश्ता रखना,
बहुत तङपाते हैँ अक्सर सीने से लगाने वाले


जो था मेरे कभी मुस्कुराने की वजह;
आज उसकी कमी ने मेरी पलकों को भिगो दिया।


याद रहेगा हमेंशा यह दर्दे हयात हमको भी,
कि क्या खूब तरसे थे ज़िन्दगी में एक शख्स की खातिर।


चाँद में दाग और सूरज में आग

दिल तो दोनों का टूटा हैं,वरना
चाँद में दाग और सूरज में आग ना होती


ऐ मोहब्बत तू शर्म से डूब मर,
तू एक शख्स को मेरा ना कर सकी.


latest bewafa shayari
latest bewafa shayari

अजीब है महोब्बत का खेल,
जा मुझे नही खेलना रूठ कोई ओर जाता है,
टूट कोई ओर जाता है।


बिन बात के ही रूठने की आदत है;किसी अपने का साथ पाने की चाहत है;
आप खुश रहें, मेरा क्या है; मैं तो आइना हूँ, मुझे तो टूटने की आदत है.

Related Article:

Bewafa Shayari For Love

Itni Chahat Ki Uss Se Ki Inteha Ho Gayi,
Wo Mohabbat Kar Ke Phir Bewafa Ho Gayi,
Main To Bas Chahta Raha Toot Kar Use din-raat,
Bas Yahi To ek Mujh Se ab Khata Ho Gayi.


Pyar ke ujale me gum ka andhera kyu hai,
Jisko hum chahe wahi rulata kyu hai,
Mere rubba agar wo mera nasib nahi to,
Aise logo se hume milata kyu hai…


Tanhayi le jaati hai jaha tak yaad tumhari,
Wahi se shuru hoti hai Zindagi hamari,
Nahi socha tha chahenge ham tumhe is kadar,
Par ab to ban gaye ho tum kismat hamari.


Zindgi se apna har dard chupa lena,
Khushi na sahi gam gale laga lena,
Koi agar kahe mohabbat aasan hai,
To use mera toota hua dil dikha dena


Bewafa Shayari For Love
Bewafa Shayari For Love

Pyaar Karne Ka Hunar Hamein Nahi Aata,
Isliye Pyaar Ki Baazi Hum Haar Gaye,
Hamari Zindagi Se UnHe Bahot Pyaar Tha,
Shayad Isiliye Wo Hamein Zinda hi Maar Gaye


Kitna Dur Nikal Gye Riste Nibhate Nibhate,
Khud Ko Kho Diya Humne Apno Ko Pate Pate,
Log Kahte Hai Dard Hai Mere Dil Me,
Aur Hum Thak Gye Muskurate Muskurate


Duniya me koi kisi ke liye kuch nahi karta,
Marne wale ke saath har koi nahi marta,
Are Marne ki baat to door rahi,
Yaha to zindgi hai phir b koi yaad nahi karta…


Humare aansu wo jaan na sake,
Mohobbat ki kahani wo maan na sake,
Kaha tha unhone marne k baad b yaad karenge,
Jeete jee to wo yaad kar na sake.


Raat ko rone ki hasrat thi

Log puchte hain kyu surkh hain tumhari aankhein,
Hans ke keh deti hoon raat ko so na saki,
Laakh chahoon bhi magar ye keh na sakoon,
Raat ko rone ki hasrat thi magar ro na saki..


Woh To Apne Dard Ro-Ro Ke Sunate Rahe
Humari Tanhayion Se Ankh Churate Rahe
Aur Hume Bewafa Ka Naam Mila, Kyunki
Hum Har Dard Muskura Kar Chipate Rahe…


 Bewafa Shayari in Love
Bewafa Shayari in Love

Acha hua maloom ho gaya,
Apno ki mohabbat ab mohabbat nahi rahi,
Warna hum toh apna ghar bhi chord rahe they,
Unke dil main rehne ke liye …


Sabke hote hue bhi
tanhai milti hai…
Yaadon me bhi
gum ki parchain milti hai….
Jitni bhi duaa karte hai hum
kisi ko paane ki _
Utni hi unse bewafai milti hai…..


Humne Bhi Kisi Se Pyar
Kiya Tha…
Hatho Me Phool Lekar
Intezarr Kiya Tha…
Bhul Unki Nahi Bhul Toh
Humari Thi…
Kyon Ki Unho Ne Nahi,
Humne Unse Pyar Kiya Tha…!!


Na Koi Meri Manzil Hai Na Kinara,
Tanhai Meri Mehfil Aur Yaadein
Mera Sahara,
Unse Bichad Kar Kuch Yun Waqt
Guzra,
Kabhi Zindagi Ko Tarse Kabhi Maut
Ko Pukara,


Tadap K Dekh Kisi Ki Chahat Me.
To Pata Chale Intzaar Kya Hota Hai,
Yuhi Mil Jaaye Agar Koi Bina Tadpe ,
To Kaise Pata Chale Pyar Kya Hota Hai..!!


Wo Bewafa Nahi Magar

Us Se Juda To Ho Gye Par Yun Laga Mujhe
Jaise Jahan Main Koi Apna Nahi Raha
Wo Bewafa Nahi Magar Itna Zaroor Hai
Pehle Wo Jis Tarha Ka Tha Wesa Nhi Raha….


Hindi english bewafa shayari
Hindi english bewafa shayari

Mujhe Usse Koi Shikayat Hi Nahi,
Shayad Hamari Kismat Me Chahat Hi Nahi.
Meri Taqdir Ko Likhkar Khuda Bhi Mukar Gya,
Puchha To Bola Ye Meri Likhawat Hi Nahi.


Hume Phoolon Se Kya Gila,
Hmne Toh Khud Kaantoh Se
Mohabbat Ki Hai !
Hme Kisi Ki Bewafai Se Kya Laina Deina
Hmne Toh Khud Bewafaon Se
Mohabbat Ki Hai !


Tanhaiyon Ke Shehar Me Ek
Ghar Bana Liya
Ruswaiyo Ko Apna Muqaddar
Bana Liya
Dekha Hain Yaha Patthar Ko
Poojte Hain Log
Isliye Humne Apne Dil Ko Bhi
Patthar Bana Liya


Har gum ki dawaa nahi hoti,
kya hota jo dua nahi hoti,
Be-khauff log tod dete hai dil,ye soch kar
ki is jurm ki koi sazza nahi hoti….


Jisne kabhi chahton ka paigaam likha tha,
Jisne apna sab kuch mere naam likha tha,
Suna hai aaj use mere zikr se bhi nafrat hai,
Jisne kabhi apne dil par mera naam likha tha.


Jeene ki khwahish me har roz mrte hain…
Wo aaye na aaye hum “intezar” krte hain…
Jhutha hi sahi mere yaar ka waada…
Hum aaj bhi sach maankar unpar etbaar krte hain…

Wrapping Up

We hope you like our this best collection of Bewafa shayari and read more article on ashmmhindi. You can also follow us on instagram and get daily updates from us Follow on Instagram as a @ashmmhindi.
You can read more Bewafa shayari here

Read our More aricle:


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here