sad shayari collection 2019

Sad Shayari – सैड शायरी

Spread the love

भटकते रहे हैं बादल की तरह;
सीने से लगालो आँचल की तरह;
गम के रास्ते पर ना छोड़ना अकेले;
वरना टूट जाएँगे पायल की तरह।

Bhatkte rahein hai badal ki tarah 
Sine se lagalo aanchal ki tarah 
Gam ke raste par na chorna akele 
Varna toot jayenge payal ki tarah.


बीते हुए कुछ दिन ऐसे हैं;
तन्हाई जिन्हें दोहराती है;
रो-रो के गुजरती हैं रातें;
आंखों में सहर हो जाती है!

Bite huae kuch din aese hai;
Tanhai jinhe doharati hai;
Ro-ro ke gujarti hai ratein;
Aankhon me sahar ho jati hai!


देख कर मेरा नसीब मेरी तक़दीर रोने लगी;
लहू के अल्फाज़ देख कर तहरीर रोने लगी;
हिज्र में दीवाने की हालत कुछ ऐसी हुई;
सूरत को देख कर खुद तस्वीर रोने लगी।

Dekh kar mera nasib meri taqdir rone lagi;
Lahu ke alphaj dekh kar tahrir rone lagi;
Hijn me diwane ki halat kuch aesi hui;
Surat ko dekh kar khud tasvir rone lagi; 

2 thoughts on “Sad Shayari – सैड शायरी”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *